टूटिकोरिन जिले के सिप्पिकुलम गाँव के समुद्री पिजरं में एफ आइ एम एस यु एल – II के अधीन महाचिगंटों की पकड़ पर आधारित जलजीव पालन (सी बी ए)

Kalidas, C and Ranjith, L and Jagadis, I and Manojkumar, P P (2018) टूटिकोरिन जिले के सिप्पिकुलम गाँव के समुद्री पिजरं में एफ आइ एम एस यु एल – II के अधीन महाचिगंटों की पकड़ पर आधारित जलजीव पालन (सी बी ए). In: मत्स्यगंधा : भा कृ अनु प - केंद्रीय समुद्री मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान की अर्थ वार्षिक राजभाषा गृह पत्रिका. ICAR- Central Marine Fisheries Research Institute, Kochi, pp. 6-11.

[img] Text
Matsyagandha Vol.2_2018_Kalidas C.pdf

Download (804kB)
Related URLs:

    Abstract

    टूटिकोरिन जिले के मछुआरों की आजीविका बढाने के लिए “टिकाऊ आजीविका के लिए मात्स्यिकी प्रबंधन” (एफ आइ एम एस यु एल – II) परियोजना के अधीन राज्य मात्स्यिकी विभाग (क्षेत्री य), टूटिकोरिन जिले के साथ 5 गाल्वनाइज़्ड लोहे से निर्मित तैरते समुद्री पिजंरों (6 मी. व्यास और 6 मी. गहराई) को स्थापित किया गया। पहले चरण में, टूटिकोरिन जिले के तटीय गाँवों से समुद्री पिजंरा उद्यम में रुचि रखने वाले मछुआरों को पहचाना गया और इन्हें पांच ग्रुपों में बांटा गया (प्रत्येक ग्रुप में चार सदस्य) और भा कृ अनु प–सी एम एफ आर आइ टूटिकोरिन अनुसंधान केंद्र में समुद्री पिजंरा मछली पालन के वैज्ञानिक पहलुओ पर प्रशि क्षण दिया गया। दसूरे चरण में सिप्पीकुलम के चयनित स्थानों में जी आई समुद्री पिजंरों को बनाकर उसमें प्लवमान एच डी पी ई ड्रमों को जोड़ दिया गया, और पिजंरे में आतंरिक एवं बाहरी जालों को लोहे के लंगरों के साथ स्थापित किया गया.

    Item Type: Book Section
    Subjects: Aquaculture > Cage culture
    Aquaculture > Mariculture
    Crustacean Fisheries
    Crustacean Fisheries > Lobsters
    Divisions: CMFRI-Kochi > Biodiversity
    Subject Area > CMFRI > CMFRI-Kochi > Biodiversity
    CMFRI-Kochi > Biodiversity
    Subject Area > CMFRI-Kochi > Biodiversity
    Depositing User: Arun Surendran
    Date Deposited: 06 Jul 2020 05:31
    Last Modified: 06 Jul 2020 05:31
    URI: http://eprints.cmfri.org.in/id/eprint/14341

    Actions (login required)

    View Item View Item