आंध्र प्रदेश में समुद्री शैवाल पैदावार का विकास, इसकी क्या आवश्यकता है?

Edward, Loveson and Megarajan, Sekhar and Ranjan, Ritesh and Xavier, Biji and Suresh Kumar, P and Ghosh, Shubhadeep (2021) आंध्र प्रदेश में समुद्री शैवाल पैदावार का विकास, इसकी क्या आवश्यकता है? मत्स्यगंधा : भा कृ अनु प - केंद्रीय समुद्री मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान की अर्थ वार्षिक राजभाषा गृह पत्रिका Matsyagandha, 9. pp. 17-20.

[img] Text
Matsyagandha_9_Edward Loveson_2021.pdf

Download (255kB)
Official URL: http://eprints.cmfri.org.in/15953/
Related URLs:

    Abstract

    आंध्र प्रदेश की लंबी तट रेखा समुद्री शैवाल पैदावार के लिए अनुकूल है; फिर भी राज्‍य में अभी तक व्‍यापक तौर पर समुद्री शैवालों का वाणिज्यिक पैदावार सफल रूप से नहीं हुआ है। इस तट पर समुद्री शैवालों के सफलतापूर्वक पैदावार के लिए विभिन्‍न संगठनों द्वारा विभिन्‍न कार्य प्रणालियों से कई तरह के प्रयास किए गए हैं। फिर भी, कुछ प्रयास सफल निकले और प्रक्षुब्‍ध समुद्री स्थितियों, लवणता में उतार-चढ़ाव, कम वृद्धि आदि जैसे कारणों से कुछ प्रयास विफल हुए। वर्तमान परिवेश में भारत सरकार द्वारा पैन-इंडिया के आधार पर समुद्री शैवाल के पैदावार के लिए उपलब्ध कराए गए महत्व के साथ, समुद्री संवर्धन में विकास और लघु पैमाने के मछुआरों के आर्थिक उन्‍नयन हेतु, इसे एक वाणिज्यिक उद्यम तक ले जाना आवश्यक है। विशाखपट्टणम क्षेत्रीय केंद्र ने समुद्री शैवाल के पैदावार से जुड़ी हुई विभिन्न समस्‍याओं और इनसे उबरने के संभावित समाधानों पर विचार करने के लिए एक बुद्धिशीलता सत्र का आयोजन किया है। वर्तमान अध्‍ययन में समुद्री शैवाल पैदावार से संबंधित पिछले कदमों, इनसे जुड़ी हुई समस्‍याओं, बुद्धिशीलता सत्र के सिफारिशों, भविष्‍य की कार्रवाइयों और सी एम एफ आर आइ द्वारा किए गए परीक्षणों के परिणामों पर चर्चा की जाती है।

    Item Type: Article
    Subjects: CMFRI
    Divisions: CMFRI-Visakhapatnam
    CMFRI-Kochi > Mariculture
    Subject Area > CMFRI > CMFRI-Kochi > Mariculture
    CMFRI-Kochi > Mariculture
    Subject Area > CMFRI-Kochi > Mariculture
    Depositing User: Arun Surendran
    Date Deposited: 02 Jun 2022 10:41
    Last Modified: 02 Jun 2022 10:41
    URI: http://eprints.cmfri.org.in/id/eprint/15964

    Actions (login required)

    View Item View Item