भारतीय मात्स्यिकी क्षेत्र में जेंडर मुख्य धारा और स्वयं सहायक ग्रुपों का प्रभाव: एक क्षणिक चित्रण

Vipinkumar, V P and Gills, Reshma and Swathi Lekshmi, P S and Aswathy, N and Athira, P V and Sunil, P V and Dhanya, G and Ambrose, T V and Pooja, K and Jephi, Ann Mary (2021) भारतीय मात्स्यिकी क्षेत्र में जेंडर मुख्य धारा और स्वयं सहायक ग्रुपों का प्रभाव: एक क्षणिक चित्रण. मत्स्यगंधा : भा कृ अनु प - केंद्रीय समुद्री मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान की अर्थ वार्षिक राजभाषा गृह पत्रिका Matsyagandha, 8. pp. 19-24.

[img]
Preview
Text
Matsyagandha_8_Vipinkumar V P_2021.pdf

Download (658kB) | Preview
Official URL: http://eprints.cmfri.org.in/15401/
Related URLs:

    Abstract

    जेंडर मुख्य धारा का सार क़ानन, नीतिया कार्यक्र मों सहित सभी क्षेत्रों और स्तरों में स्त्री और पुरुष के भेद को पहचानन है। यह महिलाओऔर पुरुषों में चितंओ को जगाने और सभी राजनैतिक, आर्थिक और सामाजिक क्षेत्रों में नीतियों और कार्यक्र मों केडि जाइन, कार्यान्वयन, निगरानी और मूल्यांकन के जीवंत आयाम का अनुभव करने की रणनीति है, जिससे महिला और पुरुष समान रूप से लाभान्वित हों और असमानता का सामना न करना पड़े।

    Item Type: Article
    Subjects: Socio Economics and Extension > Fisheries Extension
    Divisions: CMFRI-Kochi > Fishery Extension
    Subject Area > CMFRI > CMFRI-Kochi > Fishery Extension
    CMFRI-Kochi > Fishery Extension
    Subject Area > CMFRI-Kochi > Fishery Extension
    Depositing User: Mr. Prashanth P K
    Date Deposited: 12 Oct 2021 07:35
    Last Modified: 12 Oct 2021 09:02
    URI: http://eprints.cmfri.org.in/id/eprint/15407

    Actions (login required)

    View Item View Item